मतदाता हेल्पलाइन ऐप (एंड्राइड के लिए)
अंग्रेज़ी में देखें   |   मुख्य विषयवस्तु में जाएं   |   स्क्रीन रीडर एक्सेस   |   A-   |   A+   |   Theme
Jump to content

  •   

    श्री सुशील चन्‍द्रा


    ECI

    निर्वाचन आयुक्‍त 
    श्री सुशील चन्‍द्रा ने 15 फरवरी, 2019 को भारत के निर्वाचन आयुक्‍त के रूप में कार्यभार ग्रहण किया। वे भारतीय राजस्‍व सेवा (आईआरएस) के 1980 बैच के अधिकारी हैं। भारत के निर्वाचन आयुक्‍त के रूप में नियुक्ति से पहले श्री चन्‍द्रा, केन्‍द्रीय प्रत्‍यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी), जो भारत में प्रत्‍यक्ष कर के नीति प्रशासन एवं कार्यान्‍वयन का कार्य देखने वाला एक सर्वोच्‍च निकाय है, के अध्‍यक्ष के रूप में तैनात थे। वे नवम्‍बर, 2016 से  केन्‍द्रीय प्रत्‍यक्ष कर बोर्ड के अध्‍यक्ष थे। भारत के निर्वाचन आयुक्‍त के रूप में कार्यभार ग्रहण करने से पहले, श्री चन्‍द्रा ने भारतीय राजस्‍व सेवा में 38 वर्ष तक सेवा की है। 

    श्री चन्‍द्रा को कराधान के विभिन्‍न क्षेत्रों में बहुमूल्‍य एवं बहुआयामी अनुभव प्राप्‍त है, उन्‍होंने उत्तर प्रदेश, राजस्‍थान, गुजरात, महाराष्‍ट्र और दिल्‍ली में महत्‍वपूर्ण पदों पर कार्य किया है। उन्‍होंने वाद, अनुपालन प्रबन्‍धन और अन्‍तर्राष्‍ट्रीय कराधान के क्षेत्रों में कार्य किया है। श्री चन्‍द्रा की विशेषज्ञता अन्‍वेषण के क्षेत्र में है जहां उन्‍होंने निदेशक, अन्‍वेषण और महानिदेशक-अन्‍वेषण के रूप में क्रमश: मुम्‍बई एवं गुजरात में काफी लम्‍बे अर्से तक कार्य किया और तत्‍पश्‍चात् उन्‍होंने सदस्‍य (अन्‍वेषण), केन्‍द्रीय प्रत्‍यक्ष कर बोर्ड का दायित्‍व संभाला। 

    काले धन के विरूद्ध सरकार के संघर्ष में, श्री चन्‍द्रा ने नोटबंदी के दौरान, कर चोरी करने वालों के खिलाफ विभागीय कार्रवाई करने में अहम भूमिका निभाई। उन्‍होंने बेनामी सम्‍पत्ति संव्‍यवहार प्रतिषेध अधिनियम, 1988 को लागू करके बेनामी लेनदेन पर लगाम लगाने के लिए ठोस सरकारी कार्रवाई की। केन्‍द्रीय प्रत्‍यक्ष कर बोर्ड के अध्‍यक्ष के रूप में अपने कार्यकाल के दौरान, उन्‍होंने विधान सभा निर्वाचन क्षेत्रों में अवैध धन के इस्‍तेमाल को उजागर करने में सक्रिय भूमिका निभाई। उन्‍होंने राष्‍ट्रों के बीच सूचना का स्‍वत: आदान-प्रदान करने के लिए अन्‍य देशों के साथ विभिन्‍न संधियां की। उन्‍होंने अन्‍तर्राष्‍ट्रीय कराधान, कर-अपराधों और कराधान में तकनीक के इस्‍तेमाल पर विभिन्‍न अन्‍तर्राष्‍ट्रीय सम्‍मेलनों में भारत का प्रतिनिधित्‍व भी किया। इन कार्यों के भाग के रूप में उन्‍होंने भारत और स्विट्ज़रलैंड के बीच एक संधि पर हस्‍ताक्षर किए, जो दोनों देशों के बीच सूचना के स्‍वत: आदान-प्रदान के लिए अत्‍यधिक महत्‍वपूर्ण थी।     

    उनके नेतृत्‍व में विभाग ने "ऑपरेशन क्‍लीन मनी" के द्वारा संदिग्‍ध लेन-देन तथा कर चोरी के मामलों में आंकड़ों का व्‍यापक उपयोग करते हुए जांच विश्‍लेषण किया। तकनीक के उपयोग का विशद ज्ञान रखने वाले श्री चंद्रा ने ई-मूल्‍यांकन प्रक्रिया की शुरूआत करने में अग्रणी भूमिका निभाई, जहां करदाता तथा आयकर विभाग के बीच प्रत्‍यक्ष परस्‍पर कार्रवाई के बिना ही संवीक्षा मूल्‍यांकन किया जा रहा है। तकनीक तथा डाटा संग्रह का अधिक से अधिक उपयोग करके वित्तीय वर्ष 2017-18 में उन्‍होंने करदाताओं की संख्‍या को 24% तक बढ़ाने में अहम भूमिका निभाई।  

    15 मई, 1957 को जन्‍मे श्री चन्‍द्रा ने रूड़की विश्‍वविद्यालय से बी.टेक. किया तथा डीएवी कॉलेज, देहरादून से एलएलबी की डिग्री प्राप्‍त की। उन्‍होंने आईएमएफ, आईआईएम बेंगलुरू तथा व्‍हार्टन से प्रबंधन विषय में विविध प्रशिक्षण भी प्राप्‍त किए हैं। आईआरएस  में कार्यभार ग्रहण करने से पहले वे भारतीय इंजीनियरिंग सेवा में कार्यरत थे।     

    Edited by ECI

      



ईसीआई मुख्य वेबसाइट


eci-logo.pngभारत निर्वाचन आयोग एक स्‍वायत्‍त संवैधानिक प्राधिकरण है जो भारत में निर्वाचन प्रक्रियाओं के संचालन के लिए उत्‍तरदायी है। यह निकाय भारत में लोक सभा, राज्‍य सभा, राज्‍य विधान सभाओं और देश में राष्‍ट्रपति एवं उप-राष्‍ट्रपति के पदों के लिए निर्वाचनों का संचालन करता है। निर्वाचन आयोग संविधान के अनुच्‍छेद 324 और बाद में अधिनियमित लोक प्रतिनिधित्‍व अधिनियम के प्राधिकार के तहत कार्य करता है। 

मतदाता हेल्पलाइन ऍप

spacer.pngहमारा नया मोबाइल ऐप ‘मतदाता हेल्‍पलाइन’ प्‍ले स्‍टोर से डाउनलोड करें। ‘मतदाता हेल्‍पलाइन’ एन्‍ड्रॉड ऐप आपको निर्वाचक नामावली में अपना नाम खोजने, ऑनलाइन प्ररूप भरने, निर्वाचनों के बारे में जानने, और सबसे महत्‍वपूर्ण शिकायत दर्ज करने की आसान सुविधा उपलब्‍ध कराता है। आपकी भारत निर्वाचन आयोग के बारे में हरेक बात तक पहुंच होगी। आप नवीनतम  प्रेस विज्ञप्ति, वर्तमान समाचार, आयोजनों,  गैलरी तथा और भी बहुत कुछ देख सकते हैं। 
आप अपने आवेदन प्ररूप और अपनी शिकायत की वस्‍तु स्थिति के बारे में पता कर सकते हैं। डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें। आवेदन के अंदर दिए गए लिंक से अपना फीडबैक देना न भूलें। 

×
×
  • Create New...